नववर्ष पर कविता। new year kavita in hindi

वर्ष 2022 के पहले दिन हम आपके लिए लेकर आए हैं नववर्ष पर कविता। new year kavita in hindi. यह कविता आपको एक नया जोश प्रदान करेगी।


नववर्ष पर कविता New Year Poem in Hindi लिखी हैं हरियाणा के रहने वाले मनजीत भावड़िया जी ने। इन्होंने इस कविता में नए साल का आगाज करते हुऐ, मनुष्य को कुछ बन, कर सकने की सिख दी है।

New year kavita in Hindi

नववर्ष पर कविता। new year kavita in hindi

कविता:- नये साल का आगाज

नए साल के अवसर पर यह कदम उठाए , 
पनपी बुराई छोड़ने का यह प्रण उठाए , 
आओ हाथ मिलाए , आओ हाथ मिलाएं . 
भाईचारा व प्रेम का सदा गीत गाएँ , 
नए साल के अवसर पर यह कदम उठायें । 

दुनिया इस ऊँच - नीच की भावना को खोकर , 
सदा अच्छे काम करा , एक जुट होकर ,
 नए साल के अवसर पर यह कदम उठाएं , 
जात पात को मिटाने की कसम सदा लो ,
 आपसी दुश्मनी को नए साल पर त्याग दो , 
नए साल के अवसर पर यह कदम उठाएँ । 

वैर - भाव को त्यागकर आपसी प्यार बढाओ , 
नए साल पर नया भाई - चारा अपनाओ , 
नए साल के अवसर पर यह कदम उठाएँ , 
हाथ मिलाने , गले मिलने से तुम प्यार बरसाओ , 
कह मनजीत भावड़िया तुम इन कार्यों को अपनाओ ,
 नए साल के अवसर पर यह कदम उठाये 

_____________

कवि द्वारा इस गीत को पूर्ण रूप से स्वयं का बताया गया है। ओर हमारे पास इसके पुक्ते रिकॉर्ड्स है। कवि ने स्वयं माना है यह कविता उन्होंने किसी ओर वेबसाइट पर प्रकाशित नहीं करवाई है।



रचनाकार - मनजीत भावड़िया

हरियाणा

आशा करते हैं आपको यह नववर्ष पर कविता। new year kavita in hindi पसंद आईं होंगी। ओर आपको अच्छी लगी होगी।

अतः आप इस सुंदर सी कविता के बारे में अपने विचार comment करके बताएं व अपने दोस्तों, साथियों व रिश्तेदार के साथ, निचे दिख रहें share बटन की सहायता से अवश्य पहुंचाए।

यह भी पढ़ें -

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ